Sunday, June 28, 2009

जब आपके बच्चे का हो यौन शोषण - 1

विषय प्रवेश


बच्चों का यौन शोषण एक भयानक और घिनौना अपराध है जो फिर भी हमारे जीवन का एक कटु सच है। चूंकि हम हर वक्त अपने बच्चों के निकट रहकर उन्हें इस घृणित अपराध से बचा नहीं सकते, अपने बच्चों को उन पर मंडराते इस खतरे से अवगत कराकर और उससे निपटने की उचित सलाह देकर हमें उन्हें सावधान और सुरक्षित करना होगा।

इस लेख माला में हम इस महत्वपूर्ण सामाजिक समस्या के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करेंगे।

तो आइए सबसे पहले यह जान लेते हैं कि बाल यौन शोषण किसे कहते हैं।

बाल यौन शोषण किसी भी छोटे या कमजोर व्यक्ति पर किसी बड़े या ज्यादा शक्तिशाली व्यक्ति का ऐसा कोई भी व्यवहार है जिससे शोषक को यौन संतोष मिले।

बाल यौन शोषण के कुछ उदाहरण ये हैं -

1. शोषक द्वारा बच्चे के सामने अपने निजी अंगों का प्रदर्शन
2. बच्चे को स्नान के दौरान या निर्वस्त्र अवस्था में झांककर देखना
3. खुलेआम अश्लील भाषा का प्रयोग
4. अश्लील चित्र लेना या दिखाना
5. बच्चे के निजी अंगों को छूना
6. बच्चे से अपने निजी अंगों को छूने के लिए कहना
7. हस्त-मैथुन
8. बलात्कार

ऐसे कई और आचरण हैं जो यौन शोषण माने जाएंगे। बच्चे को ऐसे हर व्यवहार या स्पर्श का विरोध करने का अधिकार है जिससे उसे असमंजस, अपमान या बेचैनी का एहसास हो।

(...जारी)

2 Comments:

AlbelaKhatri.com said...

saarthak post !

गिरिजेश राव said...

बहुत ही रेलीवेंट और सार्थक पोस्ट जिसके बारे में पूछते भी लोग हिचकेंगे। इतने संवेदनशील मुद्दे को उठाने के साहस के लिए आप स्तुत्त्य हैं।

आशा है निर्वाह भी अच्छा कर पाएंगे। प्रतीक्षा रहेगी।

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट