Saturday, July 18, 2009

रोने का लाभ

अमरीका के मिनेसोटा नामक स्थान के वैज्ञानिकों के अनुसंधानों से पता चला है कि मनुष्य शायद तनाव की अवस्था में शरीर में बने हानिकारक रसायनों से पीछा छुड़ाने के लिए रोता है।

इन वैज्ञानिकों ने तनावग्रस्त अवस्था में आंखों से बहे आंसू और आंखों में धूल, हवा आदि घुसने पर बने आंसू का अलग से रासायनिक परीक्षण किया। उन्हें तनाव में बहे आंसुओं में अधिक मात्रा में हानिकारक रसायन मिले।

2 Comments:

मनोज गौतम said...

aapne achhi jankari di thanks.

ज्ञानदत्त पाण्डेय | Gyandutt Pandey said...

कुछ लोग इस लिये असहमत होंगे कि अमेरिका वाले यह कह रहे हैं! :)

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट