Friday, April 10, 2009

टिकट का कटना

आज कई टीवी चैनलों में इस मुहावरे का प्रयोग सुनने को मिला, आपने भी सुना होगा। यह चिदंबरम जूता प्रकरण के बाद सज्जन कुमार और जगदीश टाइटलर का कांग्रेस का चुनावी टिकट रद्द होने के संदर्भ में प्रयोग हुआ है।

लेकिन उसे सुनकर मुझे लगा कि कहीं न कहीं यह प्रयोग गलत है। इंडिया टीवी, और आज तक दोनों के ही टिप्पणीकार बार बार कह रहे थे, कि "टाइटलर-सज्जन का टिकट कट गया"। लिखित इश्तहार भी यही दर्शा रहे थे।

इसे देखकर मैं यही पहले समझा कि इन दोनों को कांग्रेस पार्टी ने टिकट दे ही दिया है, और कांग्रेस की नैतिकता-हीनता को मन ही मन कोसने भी लगा था। पर नहीं, टीवी टिप्पणीकार इसका ठीक उल्टा कहना चाह रहे थे। उनका आशय था, इन दोनों को कांग्रेस पार्टी ने जो पहले टिकट दे रखा था, वह अब रद्द कर दिया गया है।

जहां तक मैं जानता हूं, "टिकट कटना" मुहावरे या उक्ति का अर्थ होता है, "प्रवेश पाना"। हम अक्सर कहते और सुनते हैं, "क्या तुम नरक का टिकट कटाकर आए हो?",या "स्वर्ग का टिकट कटाकर आए हो?" और हमारा आशय यही होता है कि हमने स्वर्ग या नरक पहुंचने का पक्का इंतजाम कर लिया है।

इसलिए मुझे लगता है कि टीवी टिप्पणीकारों द्वारा टिकट कटने के इस मुहावरे का प्रयोग गलत है। सवाल यह उठता है कि इनसे यह गलत प्रयोग कैसे हो गया?

कहीं ऐसा तो नहीं है कि पंजाबी आदि दिल्ली के आस पास की भाषाओं में टिकट कटने का अर्थ हिंदी में इस मुहावरे के अर्थ का ठीक उल्टा हो?

यदि अजीत वाडनेकर जी इसे पढ़ रहे हों, तो शब्दों का सफर के किसी अंक में इस मुहावरे की चीरफाड़ प्रस्तुत करें ताकि मेरी यह शंका दूर हो सके।

आप भी बताएं कि आपको क्या लगता है। टिकट कटना का मतलब टिकट कैंसल होना हो सकता है? अथवा उसका अधिक सही अर्थ यह है कि टिकट मिल गया?

5 Comments:

कुन्नू सिंह said...

:) मै तो सूबह देख चूका था फिर साम को सूना तो समझ गया की टाईटलर का टिकट रद हो गया

Deep Jagdeep Singh said...

मेरे अनुभव के मुताबिक पंजाब दिल्ली और इससे जुड़े अन्य क्षेत्रों में मूल मुहावरा 'पत्ता कट गया' प्रचलित है, जिसका अर्थ होता है मौका हाथ से निकल गया या मौका नहीं मिला या संभावना खत्म हो गई या रास्ते से हटा दिया गया। क्यों कि यहां पर मामला चुनावी टिकट का है तो बड़ी ही टीवीयाना भाषा में चैनलों ने इस मुहावरे को इस प्रकार प्रयोग किया टिकट (पत्ता) कट गया। दूसरी बात खुद के भाषाई अनुभव और अहसास की है। जैसे कि आपको अपने वाला मुहावरा इस बात के नज़दीक लग रहा है, जबकि मुझ को मेरे वाला ज्यादा सटीक लग रहा है। शायद दूसरे लोग नए मुहावरे बताएं चलिए इसी बहाने कुछ और मुहावरों के बारे में जानकारी तो बढ़गी।

बालसुब्रमण्यम said...

सिंह साहब आपने गुत्थी सुलझा दी। अब समझ में आया कि मुहावरा पत्ता कटना है, जिसका अर्थ है रेस में न रहना। टीवीकारों ने टिकट और पत्ते में घाल मेल करके मुहावरे का अनर्थ कर डाला है।

उनकी भाषाई अकुशलता का यह एक और बढ़िया उदाहरण है।

संगीता पुरी said...

अब सबसे सटीक ढंग से अजीत वडनेकर जी ही समझा सकते हैं ... शायद आते ही हों आपके ब्‍लाग पर।

Reema said...

ये मुझे भी अटपटा लगा था - आप बिलकुल ठीक कह रहे हैं|

हिन्दी ब्लॉग टिप्सः तीन कॉलम वाली टेम्पलेट